Voice Of Media

Express and Explore Yourself

तस्वीर पर क्लिक करें

सचिन पायलट तो तभी से असंतुष्ट थे, जब राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनी थी !

- अमिता नीरव मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद से ही सबकी नजरें राजस्थान पर टिकी हुई थी। यूँ तो मध्य प्रदेश में कांग्र...

Centre Asks PTI to Pay Over Rs 84 Crores Within a Month for ‘breaches’ in its Delhi office

New Delh i: The Land & Development Office, which comes under the Union Ministry of Housing and Urban Affairs, has sent a notice ...

अगर भूतों की दुनिया है तो हम सबको क्यों नहीं दिखती?

- डॉ अबरार मुल्तानी मैं तनाव प्रबंधन पर लेक्चर दे रहा था एक श्रोता समूह को। उसमें एक जगह मैंने बताया कि आपको नकारात्मकता (जैसे टी...

ऐसी धर्मनिरपेक्षता कहीं नहीं होती जहां राज्य और धर्म में ज़रा भी घालमेल न हो, यह कपोल कल्पना है!

-शादाब सलीम हमने अपने जीवन में वंदे मातरम नारे पर विवाद देखें है। एक पक्ष कहता था- नारा लगाओ और दूसरा पक्ष कहता था- मैं नहीं लगात...

'बेटी बचाओ' का शोर मचाने वाले तुम्हारे लिए आगे नहीं आएंगे, तुमने इस्तीफा देकर ठीक ही किया !

-श्याम मीरा सिंह उम्मीद थी राज्य के अधिकारी, मंत्री, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, कोई तो इस लड़की को शब्बाशी देंगे, कोई तो कहेगा "...

भारत और भारतीयों के बारे में क्या सोचते हैं चीन के लोग?

- लक्ष्मण सिंह देव पहली बात तो मैं यहां स्पष्ट कर दू कि चीन वास्तव में भारत का पड़ोसी देश नही है..चीन की स्थल सीमा अभी 14 देशों को ...

कोरोना काल : शिक्षा पर गहराते संकट को समझें, देश में सिर्फ शिक्षा के सतही सवालों का बोलबाला है

- कृष्ण कुमार  मुसीबत कैसी भी हो सामाजिक जीवन में छिपी सच्चाइयों को बाहर लाती है। रेल में बैठकर यात्रा करना रोज़मर्रा की जिंदगी क...

एनकाउंटर का जश्न: लोकतंत्र में न्यायपालिका पर विश्वास कम होना हम सब के लिए खतरे की घंटी है

-मनिंदर सिंह यह जो एनकाउंटर संस्कृति का जश्न मनाने में मशगूल है उन्हें  इतना पता होना चाहिए कि विकास दुबे जैसे दुर्दांत अपराधियों क...

यह हिंदी वाला एनकाउंटर है, जो 'होता' नहीं 'किया जाता' है...जैसे प्यार किया नहीं जाता, हो जाता है !

- सुधींद्र मोहन शर्मा "हो जाता है प्यार, प्यार किया नही जाता" आज ये पुराना गाना क्यों याद आ रहा है , यार !!! अंग्...

दिए जलाओ, नगाड़े बजाओ, विकास को न्याय मिल गया, न्यू इंडिया में आपका स्वागत है!

- मनीष सिंह इंस्टंट न्याय.... न कोर्ट, न पेशी, न जज, न जल्लाद, ये एनकाउंटर न्याय है बबुआ। भारत अब वो भारत नही जो टीवी पर गोलियां ब...

यह मत पूछिए कि अदालत कहां है? यह पूछिए, जिस लोकतंत्र में अदालत होती है, वो लोकतंत्र कहां है?

- कृष्णकांत जब भी किसी गैर-न्यायिक हत्या पर सवाल उठते हैं तो लोग पूछते हैं कि भारत में न्यायपालिका है ही कहां? एक थे जस्टिस वीआर कृष्...

वो कौन हैं जो चाहते थे विकास दुबे जिंदा न रहे, किसके लिए मुसीबत बन सकता था विकास दुबे?

- रोहित देवेंद्र शांडिल्य इसमें कोई शक नहीं है कि विकास दुबे की पुलिस कस्टडी में हत्या की गई. शक इसमें भी नहीं है कि वह अपराधी था।...

विकास दुबे एनकाउंटर: कानपुर पुलिस का बदला तो पूरा हुआ, लेकिन असल चुनौती अभी बाकी है

-विजय शंकर सिंह कानून के हांथ बहुत लंबे होते हैं। कभी कभी इतने लंबे कि, कब किसकी गर्दन के इर्दगिर्द आ जाएं पता ही नहीं चलता है। ए...

देवदासी प्रथा: धर्म के नाम पर आंध्र प्रदेश में करीब 30 हजार देवदासियां शोषण का शिकार होती हैं

- निरवाना रॉय अभी कुछ दिन से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लगातार शेयर की जा रही है निरवाना को.. जिसमें एक ग्यारह साल की बच्ची का देवदास...

विकास दुबे के साम्राज्य का अंत और प्रकाश झा की फिल्म अपहरण का वो कभी न भूलने वाला दृश्य!

- मनीष सिंह प्रकाश झा की मूवी आयी थी- “अपहरण”. एक गाँधीवादी फ्रीडम फाइटर का बेटा अपराधी बन जाता है. सबसे बड़ा गैंग्स्टर, मगर अब कान...

अपराधी-पुलिस गठजोड़ और मुखबिरी एक नहीं, हर थाने की बात है, कहीं भी देख लीजिए !

- समीरात्मज मिश्र 'विकास दुबे का जो भी आपराधिक इतिहास दिख रहा है, उससे कम से कम कानपुर ज़िले की पुलिस तो वाकिफ़ रही ही होगी. न...